NFT kya hai क्या है NFT | और कैस काम करती है

NFT kya hai meaning in hindi आइए जानते है दोस्तो अपने जरूर किसी ना किसी से NFT के बारे में सुना होगा हम आपको इस आर्टिकल के मध्यम से NFT से जुड़ी सभी जानकारी देने वाले है की NFT क्या है और कैसे काम करता है और इसे कहा से खरीदा और बेजा जा सकता है इन सभी के बारे में आपको डिटेल्स जानकारी देने वाले है।

दुनिया जिस तरह तेजी से डिजिटाइजेशन की ओर बढ़ रहा है जिसमे नई टेक्नोलॉजी के खोज किए जा रहे है। उसी तरह NFT का नाम भी आज कल काफी जोड़ो शोरो मार्केट में ट्रेंड कर रहा है। पिछले कुछ महीनो से NFT को लेकर कई खबरे आ रही है और इससे जुड़े लोगो के मन कई सवाल भी है।

NFT के बारे लोगो का ध्यान तब आकर्षित हुआ जब एक 10 सेकंड की क्लिप वीडियो करीब 66 लाख डॉलर यानी की 49.44 करोड़ रुपए में बचे गए थे। इस 10 सेकंड के वीडियो आर्ट को मियामी के आर्ट कलेक्टर जिनका नाम पाब्लो रोड्रीगुज फ्रेले नाम के वैक्ती ने खरीदा है।

NFT Full Form in hindi

चलिए अब जानते है की आखिर एनएफटी का फुल क्या होता है तो हम आपको बता दे की NFT का फुल फॉर्म ( Non Fungible Token )meaning in hindi कहा जाता है। इसकी स्थापना May 2014 में Kevin McCoy औरAnil Dash पहला नॉन फन जिबल टोकन बनाया था। यह Ethereum ब्लॉक चैन टेक्नोलॉजी के सिद्धांत में काम करता है। अब चलिए जानते है Nft क्या है।

NFT Kya Hai और यह कैसे काम करता है।

NFT को (Non Fungible Token) नाम से जाना जाता है जिसका मतलब होता है नॉन रिप्लेशिएबल जिसे किसी दूसरी वस्तु से रिप्लेस नही किया जा सकता है जैसा की मोनालिसा पेंटिंग है या फिर कोहिनूर का हीरा है यह सभी नॉन रिप्लेशिएबल है जिसे नॉन फंजिबल कहा जाएगा।

जो भी आर्ट्स नॉन रिप्लेशिएबल उन्हे नॉन फंजिबल आर्ट्स कहा जाता है इस तरह के आर्ट्स को ऑनलाइन बेचना के तरीके को Non Fungible Token कहा जाता है। तो इस तरह से NFT की पहचान किया जाता है और उसी के अनुसार उस आर्ट की एक वैल्यू तय कि जाती है।

NFT कैसे काम करता है : तो आप इस तरह से समझ सकते है जिस तरह से फिजिकल आर्ट्स के ऑक्शन होते है जिसमे सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले को वो आर्ट्स पेंटिंग बेच दिया जाता है जिससे ओरिजनल आर्टिस्ट को उसके आर्ट्स के अनुसार पैसे मिल जाते है।

कुछ इसी तरह NFT यानी की (नॉन फंजिबल टोकन) काम करता है लेकिन यह सभी डिजिटली रूप में किया जाता है। जिसमे बोली ऑनलाइन लगाई जाती है और आर्ट्स भी डिजिटल Gif, video, डिजिटल कार्ड, इस तरह के कार्ड को ऑनलाइन NFT प्लेटफार्म पर बेचा और खरीदा जा सकता है।

यह बात जननी बहुत जरूरी है की जब भी आप ऑनलाइन NFT में कोई भी Video clips, या पेंटिंग्स आर्ट्स, जीआईएफ, फिजिकल प्रिंटिंग बाकी चीजे नही मिलती है। इसके बदले एक यूनीक टोकन Non Fungible Token दिए जाते है। NFT की मदद से आप उस आर्ट्स के ओरिजनल आर्टिस्ट के बारे जाना जा सकता है। इसे डिजिटल ओनरशिप के नाम से भी जाना जाता है। पिछले कुछ समय से क्रिप्टो आर्ट ऑनलाइन गेमिंग आदि में इन टोकन का इस्तेमाल किया जा रहा है।

NFT कैसे काम करता है ( NFT kaise kaam karta hai)

NFT कैसे काम करता है तो हम आपको बता दे की एनएफटी इसके लिए ब्लॉकचैन तकनीक का इस्तेमाल करती है। खास कर एथरियम ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को इस्तेमाल करती है। जिसमे जोभी एंट्री की जाती है इसे कभी कोई डिलीट नही कर सकता है।

ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी सबसे माना जा रहा है जिसकी इस्तेमाल बहुत से बैंक भी करने वाली है इस सेफ तकनीक का इस्तेमाल nft में किया जा रहा है। हम बता दे की इसमें जितनी भी एंट्री होती है Buy or sell इस तरह की सभी जानकारी को लेजर में रिकॉर्ड्स किया जाता है जिसे डिलीट या फिर मिटा नही सकता है। और साथ इसके ओरिजनल क्रिएटर का भी पता लगाया जा सकता है।

क्या कोई भी NFT बना सकता है ?

जी हां बिलकुल कोई भी NFT आर्ट्स को बना सकता है। जिस तरह ऑफलाइन आर्ट्स यानी की फिजिकल आर्ट्स रंग और पेंटिंग स्किल के जरिए क्रिएट शानदार पेंटिंग बनाते है ठीक उसी तरह NFT के आर्ट्स को उसी स्किल के जरिए बना सकते है लेकिन इसे आपको ऑनलाइन डिजिटल फॉर्म रूप में होना चाहिए।

जिसकी कॉपी ऑफलाइन मौजूद नहीं होनी चाहिए और साथ ही डिजिटल आर्ट्स पर हाथ साफ होना चाहिए आप अपने NFT कहा बेच सकते है तो इसके लिए ऑनलाइन मार्केट कुछ प्लेटफार्म है जिसपर क्रिएटर अपने आर्ट्स को ऑक्शन कर सकते है। यह प्लेटफार्म का नाम रिरिबल, ओपेन सी, और फाउंडेशन और सोरारे है।

इन सभी प्लेटफार्म पर खरीद – फरोख्त फिजिकल करेंसी में नहीं किया जाता है बल्कि क्रिप्टोक्रेंस में किया जाता है। Nft खरीदने के लिए सेलर को क्रिप्टो करेंसी में पेमेंट किया जाता है। जैसे Bitcoins, एथरियम, इसके सबसे पहले आपको एथेरियम का अकाउंट बनाना होगा और उसे इन प्लेटफार्म से लिंक करना होगा इसके बाद आप अपने आर्ट्स को सेल ऑक्शन में दे सकते है। जिसमे आपको आर्ट्स का प्राइस पूरी डिटेल्स और रॉयल्टी भी सेट कर सकते है।

जिसकी मदद से आपका आर्ट्स बिक जाने के बाद जिसने आपके आर्ट्स को खरीदा और वह किसी तीसरे खरीदार को बेचता है उस अमाउंट का 10 % या फिर 5% जितना भी आप लॉयल्टी तय किए होंगे उस हिसाब से आपको अपने आर्ट्स पर लॉयल्टी यानी पैसा हमेशा मिलते रहेंगे।

भारत में NFT कब परचालन में आइएगा: तो अभी इसपर कुछ कहना सही नहीं होगा क्युकी भारत के लिए NFT एक दम नया कांसेप्ट है, जिस तरह भारत में क्रिप्टोक्रेंस को लेकर लोगो के बीच मदभेद था उसी तरह NFT को लेकर भीतभेद बना हुआ लेकिन केक्सपर्ट्स की माने को एमएफटी भारत की मार्केट में आने अभी कुछ समय लग सकता है। NFT भारत में लॉन्च करने के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज पहली भारतीय कंपनी की तैयारी में जिसका नाम Duzzle हो सकता है।

NFT के क्या फायदे है।
  • Nft का सबसे बड़ा फायदा यह की क्रिएटर के लिए काफी। अच्छा माना जा रहा है। क्युकी इसमें क्रिएटर को रॉयल्टी दिए जाते है जब भी आर्ट्स को रीसेल किया जाता है।
  • NFT से उसे आर्ट्स के ओरिजनल क्रिएटर के बारे में जाना जा सकता है। जिससे डिजिटल को कॉपी या चोरी होने से बचाया जा सकता है।
  • NFT का तीसरा सबसे फायदा यह की इसमें एथेरियम ब्लॉकचैन तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। जिसमे लेजर सारी रिकॉर्ड्स किया जाता है।
NFT के नुकसान क्या होता है ।
  1. NFT अभी सबसे नुकसान यह है की इसकी पेमेंट क्रिप्टो करेंसी एक्सेप्ट किया जा रहा है। अगर बात करे crypto currency की इसके बजली बहुत ज्यादा खर्च किया जाता है जिससे आने भविष्य पर्यावरण पर इसका असर पर सकता है।
  2. जब आप किसी फिजिकल रूप में आर्ट्स या पेंटिंग को खरीदते है तो उसे आप घर लेकर आ सकते है स्टोर करके रख सकते है।
  3. लेकिन एनएफटी में ऐसे नही होता है इसे देख तो सकते है लेकिन फिजिकल रूप में नहीं निकल सकते है तो यह भी एक एनएफटी का नुकसान है।
NFT का पूरा नाम –Non-fungible token
NFT कब बना था –May 3, 2014
NFT को किसने बनाया थाKevin McCoy औरAnil Dash
सबसे महंगा NFT आर्ट –$1 million US Dollar
NFT kya hai

यह भी पढ़े

TDS Kya Hai।
6G Technology kya hai
5G Network Par Nibandh
Share market kya hai

Canclusion

NFT क्या है और कैसे काम करता हैं तो हमने आपको इन सभी के बारे आपको इस आर्टिकल के जरिए आपको NFT के बारे कुछ जरूर सीखने को मिला होगा। हम उम्मीद सकते है की आपको यह सिंपल और सालार भाषा में समझने की कोशिश की है। की NFT kya hai और NFT kaise kaam karta hai। इन सभी के बारे आपको यह जानकारी कैसे लगी हमे कमेंट करके बता सकते है।

और साथ हमने आपको NFT Full Form in hindi क्या है यह भी बताने की कोशिश की है। इससे जुड़ी कोई सुझाव या सवाल हो तो जरूर कमेंट के जरिए पूछे जिससे आपके प्रोब्लम पूरी तरह से सॉल्व किआ जा सके – NFT kya hai NFT kya hota hai,.

NFT KYA HAI

एनएफटी एक नॉन फंगिएबल टोकन है। जो नॉन रिप्लेशिएबल उन्हे Non-fungible token आर्ट्स कहा जाता है.

NFT की खोज कब हुई.

विकीपीडिया के अनुसार एनएफटी की खोज Kevin McCoy औरAnil Dash पहला नॉन फन जिबल टोकन बनाया था.

दुनिया की सबसे महंगी नफ्ट कौनसी है.

दुनिया की सबसे महंगी नफ्ट art का नाम है Beeple’s Everydays है जिसे करीब $69 मिलियन डॉलर ख़रीदा गया था.

Leave a Comment