VPN KYA HAI | वीपीएन क्या है और कैसे काम करता है 2021

वीपीएन क्या है आप अपने ऑनलाइन सिक्योरिटी और प्राइवेसी को लेकर चिंतित रहते है तो हम आपको इस पोस्ट में VPN Kya hai और vpn कैसे काम करता है इसके बारे जानने वाले है। इंटरनेट के यूजर दुनिया में बहुत तेजी से बढ़ रहे है इंटरनेट पर ब्राउजिंग करते समय या किसी भी रिसर्च जानकारी हासिल करते है समय आपका प्राइवेसी और डाटा आपका सुरक्षित रहे है।

यह बहुत जरूरी है की फोन में मौजूद आपका प्रर्सन डाटा है कॉन्टैक्ट्स और मैसेजेस इन सभी को इंटरनेट ब्राउजिंग करते समय पर्सनल डिटेल्स शेयर करना बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है। क्युकी ऑनलाइन की दुनिया में अच्छे और बुरे सभी तरह के लोग मौजूद होते है।

और आप किस तरह से अपने पर्सनल जानकारी को हैकर से बचाने से बचाने के लिए और साथ अपने ईमेल, ऑनलाइन शॉपिंग और ऑनलाइन पेमेंट को सिक्योर रखना चाहते है तो हम आपको कंप्लीट जानकारी देने वाले है, VPN Kya hota hai और कैसे काम करता है इन सभी के बारे में आपको डिटेल्स में जानकारी देने वाले है।

तो चलिए जानते है की आपके मोबाइल पर इंटरनेट ब्राउजिंग करते समय VPN किस तरह से आपके पर्सनल डाटा को सिक्योर कर सकता है और वो भी फ्री जी हां।

Table of Contents

VPN Ka Full Form kya hai। VPN का फुल फॉर्म क्या होता है।

VPN इंटरनेट दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला टेक्नोलॉजी में से एक है इसका फूल फॉर्म होता है (Virtual Private Network) यह इंटरनेट को सुरक्षित बनाने में मदद करती है और आपके रियल IP address को पब्लिक नही दिखाता है।

VPN Kya hai (VPN क्या है )

असुरक्षित वाईफाई (wifi) नेटवर्क पर वेबसाइट को ओपन करना या ट्रांजेक्शन जानकारी या फिर आपका वैक्तिगत जानकारी और ब्राउजिंग करने के तरीके को पब्लिकली एक्सपोज हो सकता है।

इससे यह पता चलता है की हमारी जानकारी इंटरनेट पर पूरी तरफ सुरक्षित नहीं होती है। लेकिन VPN का इस्तेमाल से इन खतरो से अपने पर्सनल जानकारी को सुरक्षित रखा जा सकता है।  VPN यानी (Virtual Private Network) इस्तेमाल करते समय आपको सुरक्षित नेटवर्क कनेक्शन देता है।

VPN आपके इंटरनेट ट्राफिक को इंक्रिप्ट ( Encrypt) करता है और आपकी ऑनलाइन जानकारी गुप्त रखने में मदद करता है। ऐसे में किसी तीसरे लोग के लिए आपकी ऑनलाइन जानकारी को ट्रैक करना और आपकी डाटा की चोरी करना काफी मुश्किल हो जाता है।

VPN कैसे काम करता है ( VPN kaise kaam karta hai)

VPN Kya hai यह अपने तो जान गाय है अब जानते है की VPN कैसे काम करता है। VPN आपके सुरक्षित प्रदान करने के लिए कंप्यूटर और मोबाइल फोन को सर्वर कंप्यूटर को सर्वर कंप्यूटर के जरिए कनेक्ट करता है। और आप उस कंप्यूटर के इंटरनेट कनेक्शन का इस्तेमाल करके इंटरनेट पर ब्राउजिंग कर सकते है।

जब आप सिक्योर इंटरनेट से कनेक्ट होंगे तो आपका इंटरनेट ट्राफिक इंक्रिप्टेड टनल से होकर गुजरता है जिसे कोई भी नही देख सकता है इसका मतलब यह हुआ कि कोई हैकर्स और नाही सरकार, और नाही आपका इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर आपके डाटा को देख सकती है। यानी की कोई भी आपके डाटा को रीड नहीं किया जा सकता है।

जब आप बिना VPN ke इंटरनेट चलाते है या किसी वेबसाइट पर जाने की कोशिश करते है यह जानकारी आपके इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के पास जाता है। तब आप साइट को ISP के जरिए आप वेबसाइट के साथ कनेक्ट कर पाते है।

आपकी जानकारी के बता दे की ISP हर यूजर के लिए अलग अलग IP address (192.168.1.1) इस तरह का आईपी एड्रेस प्रदान करता है आईएसपी ही हमारा डायरेक्ट ट्रैफिक कंट्रोल करता है। और उन वेबसाइट का पता लगा सकता है जिनपर हम विजिट करना चाहते है। इस तरह कोई विजिटर उस वेबसाइट तक पहुंच पता है जिसपर वो जाना चाहता है।

जब हम VPN के साथ कनेक्ट होते है तो हमारी डिवाइस जिस भी VPN का इस्तेमाल करते है उसे VPN client भी कहा जाता है और वो VPN secure सर्वर से कनेक्शन डिवाइस और सर्वर के बीच बनाते है। यूजर का ट्राफिक ISP के जरिए होकर वेबसाइट पर जाता है लेकिन VPN होने की वजह से यूजर का ओरिजनल आईपी एड्रेस नही देख पता है इस तरह VPN काम करता है।

vpn kya hai

VPN को कब लांच किया गया था।

VPN को सबसे पहले 1996 में माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने डेवलप्ड बनाया था, VPN को बनाने के उद्देस्य यह था ऐसे कर्मचारी जो दूर दराज इलाको और ऑफिस में रह कर काम नहीं करते है।

या फिर वह अपने घरों में बैठ कर कंपनी सिक्योर इंटरनेट कनेक्शन ले सके इस वजह से VPN टेक्नोलॉजी को बनाया गया था, लेकिन यह टेक्नोलॉजी धीरे धीरे सभी कंपनी और पब्लिक के द्वारकाफी इस्तेमाल किया जाने लगा है।

VPN का यूज कैसे करे

दोस्तो अबतक तो आपको पता हो गया होगा की VPN Kya hota hai और vpn कैसे काम करता है। अब जानते है VPN का इस्तेमाल कहा कहा कर सकते है।

दोस्तो अगर आपके लिए प्राइवेसी जरूरी है तो आप हर बार इंटरनेट इस्तेमाल करते समय जरूर VPN का इस्तेमाल करे क्युकी इस टेक्नोलॉजी की वजह से आप अपने डाटा को काफी सुरक्षित रख सकते है।

  • स्ट्रीम करते समय
  • जब आप सफर कर रहे हो।
  • पब्लिक वाईफाई इस्तेमाल करते समय
  • गेम खेलते समय।
  • शोपिंग करते समय आप जरूर VPN का यूज करे।
  • Online class करते समय
VPN कितने परकार के होते है। (How many types of VPN)

VPN कितने टाइप्स के होते है तो हम बता दे की VPN में दो टाइप्स होते है।

Remote–एक्सेस VPN
साइट टू साइट VPN होता है।

रिमोट एक्सेस vpn में यूजर दूसरे नेटवर्क पर एक प्राइवेट एनक्रिप्शन टनल के जरिए इंटरनेट से कनेक्ट हो सकते है। इसके जरिए कंपनी के इंटरनेट सर्वर पब्लिक इंटरनेट से कनेक्ट हो सकते है।

साइट टू साइट VPN को कभी कभी Router to Router VPN भी कहा जाता है इस तरह के वीपीएन को कंपोरेट सेक्टर में यूज किया जाता है। खास कर एक कंपनी इंटरप्राइज कई डायरफेनरेट लोकेशन पर ऑफिस होते है ऐसे साइट टू साइट VPN एक क्लास टनल नेटवर्क बना देते है। जहा पर सभी लोकेशन एक साथ सर्वर से कनेक्ट किया जा सके।

VPN के फायदे क्या क्या होते है।

अब हम आपको VPN ke fayde kya hai उसके बारे में जानते है VPN Kya hai — ऐसे तो VPN के बहुत से फायदे होते है जैसे–

  1. VPN आपके पर्सनल डाटा को सुरक्षित रखता है।
  2. VPN आपको सिक्योर और Encrypt connection एक्सेस करने में मदद करता है।
  3. VPN की मदद से आप स्पीड सर्वर की वजह से आपकी इंटरनेट स्पीड बढ़ जाती है।
  4. VPN की मदद से किसी भी ऑनलाइन ब्राउजिंग ओरिजनल आईपी एड्रेस सुरक्षित रहती है।
VPN के नुकसान क्या क्या होते है।
  1. VPN के कुछ फायदे है और वही कुछ नुकसान भी होता है जी हां बिलकुल VPN से ज्यादा सुरक्षित कोई इंटरनेट नही होता है।
  2. VPN Free से कभी कभी नुकसान भी हो जाते है।
  3. पेड VPN बहुत महंगे होते है।
  4. VPN में आपको कई डिफरेंट कंडीशन में स्लो इंटरनेट हो जाती है।
  5. VPN में आपको कोकीज प्रोटेक्शन नही होता है।

आपके windows computer के लिए बेस्ट VPN software kya hai

आज की रफ्तार भरी दुनिया में ज्यादा तर सभी काम इंटरनेट से किया जाने लगा है जिसमे वर्क फ्रॉम होम , इंटरनेट पर मूवी देखना। Online क्लास करना इस तरफ के का आज इंटरनेट की मदद से ही किया जाने लगा है। ऐसे में आपका डाटा सुरक्षित रखा बहुत जरूर होगया है।

एक ऐसे VPN जिसकी मदद से आप अपने सभी पर्सनल ड्यूक्यूमेंट ऑफिस के ड्यूक्यूमेंट, पीडीएफ लैक्चर इन सभी को हैकर्स से बचा कर रखा बहुत जरूरी होगा है। नीचे हम आपको कुछ विंडोज वोन सॉफ्टवेयर के बारे बात करे जिसका आप अपने पीसी कंप्यूटर बिना किसी प्रोब्लम के कर सकते है।

  1. Windsribe
  2. Total VPN
  3. OpenVPN
  4. Tunnel Bear
  5. Zenmate

मोबाइल में VPN सेटिंग कैसे कर सकते है

आज के समय अधिकतर लोग मोबाइल में इंटरनेट को चलाना पसंद करते है क्युकी कंप्यूटर लैपटॉप की तुलना में मोबाइल छोटा और रखने में काफी सुविधा होती है ऐसे आगर आप मोबाइल में VPN का इस्तेमाल करना चाहते है तो इसके सबसे Google Play Store or iOS Apps Store में जाना है उसके बाद एक अच्छा और फ्री VPN App को अपने फोन में डाउनलोड कर लेना है।

1. डाउनलोड होने के बाद इंस्टाल करे जैसे Turbo VPN यह सबसे अच्छा और बहुत कम ads देखने को मिलते है।
2. इंस्टाल होने के बाद ऐप को ओपन करना है, उसके बाद अपने अनुसार किसी भी कलेक्शन के सर्वर को सिलेक्ट कर लेना है।
3. लोकेशन सिलेक्ट करने के बाद आपको अब कनेक्ट पर क्लिक कर देना है। उसके बाद थोड़े समय के बाद आपका VPN आपके फोन से कनेक्ट हो जाएगा।

  1. Windscribe
  2. NordVPN
  3. NordVPN
  4. Turbo VPN

Frequently Asked Questions (FAQ)

VPN kya hai ?

VPN (Virtual Private Network) है vpn का इस्तेमाल करते समय आपको सुरक्षित नेटवर्क कनेक्शन देता है।

VPN को कब कब बनाया गया था।

VPN को सबसे पहले 1996 में माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने डेवलप्ड बनाया था

फ्री वीपीएन क्या है?

VPN सर्विस को आप फ्री में भी इस्तेमाल कर सकते हैं Google प्लेस्टोर से कई एप है जो फ्री में वीपीएन की सर्विस देते हैं ।

वीपीएन मास्टर क्या होता है?

VPN Proxy Master एक सरल वीपीएन है जिसकी मदद से आप प्रॉक्सी सर्वर के माध्यम से इंटरनेट से कनेक्ट कर सकते हैं

यह भी पढ़े

6G Technology kya hai

5G Network Par Nibandh

कैंक्लूजने ( Conclusion )
यदि आपको यह post VPN क्या होता है हिंदी में पसंद आया हमारे द्वारा बताए गए VPN Kya hai यह जानकारी आपकी प्रोब्लम को सॉल्व करने में मदद किया होगा। VPN kya hai और kaise kaam karta hai और इससे जुड़ी सभी जानकारी आपको इस पोस्ट के मध्यम जरूर प्राप्त हुआ होगा।

VPN Kya hai यदि आपको यह जानकारी VPN क्या होता है हिंदी में पसंद आया होगा तो आप इसे जरूर अपने दोस्तो और फैमिली मेंबर के साथ जरूर शेयर करे। कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook,और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Share to friend
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment